Things you can do to manage

Identify the situation in the corona crisis, focus on the things that are in control


CoronaIn this difficult period of corona infection, many people have questions in their mind that how to get out of these situations? If someone is worried about studies, then there is the stress of job or family security.

If two years of hard work is at stake, it can certainly be a disturbing thing, but it is important to understand that we cannot control everything that happens around us. However, the most important thing is to recognize and accept the current situation and focus on the things that are under our control. Your rank will be based on your hard work and effort, including your two-year preparation. It is still unclear when the examination will take place and what will be its result. It is not in your control and worrying about it will increase anxiety. That is, worrying in vain over what is not under your control will not achieve anything.

This time pushing yourself into study may not be as effective as what you are experiencing. Maybe take a break from studying for some time. This will help you get fresh again. Engage yourself in things that teach you something.

Fear usually stems from lack of security. The current situation is new and there is a heap of uncertainties. Remind yourself that the whole world is going through this phase. It is important that you live every moment and spend every day as if it is your whole life. Try to talk to people close to your concerns. If you are not sleepy, then read something good. Switch off your gadgets and if you still find yourself worrying, contact a doctor or seek the help of a psychologist.

Due to mental instability, physical problems definitely arise. At this time stress and anxiety are much prevalent. Financial security has become a greater burden for all of us than a few months. Whatever you can do strategically and plan the budget for your bad situation too. One of the most important thing you have to keep in mind is that you are doing everything that is under your control to cover the situation. Share your concerns with family and try to see if expenses can be shared. So that you will feel less burdened on yourself.


कोरोना संकट में स्थिति को पहचानें, उन चीजों पर फोकस करें जो नियंत्रण में हैं


दो साल की कड़ी मेहनत दांव पर हो तो यह निश्चित ही परेशाान करने वाली बात सकती है, लेकिन यह समझना जरूरी है कि हम अपने आस-पास होने वाली सभी चीजों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। हालांकि, सबसे अहम है कि हम वर्तमान स्थिति को पहचानें और इसे स्वीकार करे और उन चीजों पर फोकस करें जो हमारे नियंत्रण में हैं। आपकी रैंक आपकी कठिन मेहतन और प्रयास आधारित करेंगे, जिसमें आपकी दो साल की तैयारी भी है। अभी यह अस्पष्ट है कि परीक्षा कब होगी और इसका रिजल्ट क्या होगा। यह आपके नियंत्रण में नहीं है और इस बारे में चिंता करने से चिंता बढ़ जाएगी। यानी जो आपके नियंत्रण में नहीं है, उस पर व्यर्थ में चिंता करने से कुछ हासिल नहीं होगा।

इस समय अपने आप को अध्ययन में धकेलना उतना प्रभावी नहीं हो सकता है जितना आप अनुभव कर रहे हैं। हो सकता है कि कुछ समय के लिए पढ़ाई से ब्रेक लें। यह आपको दोबार तरोताजा होने में मदद करेगा। उन कामों में खुद को व्यस्त करिए जो आपको कुछ सिखाती हैं।

भय आमतौर पर सुरक्षा की कमी से पैदा होता है। मौजूदा परिस्थिति नई हैं और अनिश्चितताओं का ढेर लग गया है। खुद को याद दिलाइए कि पूरी दुनिया इसी दौर से गुजर रही है। यह महत्वपूर्ण है कि आप हर पल जिएं और हर दिन को ऐसे बिताएं कि जैसे यह पूरी जिंदगी है। आप करीबी लोगों से अपनी चिंताओं पर बात करने की कोशिश करिए। आप को नींद नहीं आ रही हैं ऐसे में कुछ अच्छा पढ़िए। अपने गैजेट्स को स्विच ऑफ कर दीजिए और यदि फिर भी आप खुद को चिंता में पाते हें तो डाॅक्टर से संपर्क कीजिए या मनोवैज्ञानिक की मदद लीजिए।

मनसिक अस्थिरता की वजह से निश्चित ही शारीरिक दिक्कतें पैदा होती हैं। इस समय तनाव और चिंता बहुत आप है। वित्तीय सुरक्षा हम सभी के लिए कुछ महीने की तुलना में अधिक बोझ बन गई है। आप रणनीतिक तौर पर जो कुछ भी कर सकते हैं और अपनी खराब स्थिति के लिए भी बजट प्लान करिए। आपको दिमाग में एक सबसे अहम बात यह रखनी है कि आप स्थिति को कवर करने के लिए वो सबकुछ कर रहे हैं, जो आपके नियंत्रण में है। अपनी परेशानियां घरवालों के साथ साझा करिए और यह देखने की कोशिश करिए क्या खर्चों को बांटा जा सकता है। ताकि आप खुद पर कम बोझ महसूस कर सकेंगे।